1
दिल- देवेन्द्र देव
दिल- देवेन्द्र देव

वो आज भी टूटी खाट पे सोता होगा वो सबसे छुपकर के कही पर रोता होगा कभी मुझे याद करता होगा कभी किसी चेहरे में मुझे खोजता होगा कभी मिलने के लिए ...

Read more »

1
वक़्त- देवेन्द्र देव
वक़्त- देवेन्द्र देव

वक़्त रहा तो फिर मिलेंगे मैखान फ़िलहाल तो खुद से वक़्त न होने कि शिकायत करते है वक़्त लगता है किसी जख्म को भर जाने में पर जब वक़्त ही उस...

Read more »

3
नाम- देवेन्द्र देव
नाम- देवेन्द्र देव

ये भी जमाना है कि वो पूछते है दिले हाल मेरे हो गया है नाम मेरा अब इस जहा में अब तो कह भी नहीं सकते कि अच्छे नहीं हालात फ़िलहाल मेरे

Read more »

1
दिल- देवेन्द्र देव
दिल- देवेन्द्र देव

वो दिल ही क्या जो दर्द को समेट न सके और वो दर्द ही क्या जो दिल में समां न सके हम और क्या कहे यारो वो इश्क-ऐ-रूमानी एहसास ही क्या जिसके ब...

Read more »

0
सूरज- देवेन्द्र देव
सूरज- देवेन्द्र देव

वो भी सूरज है अपने घर का पर आज खुद ही घर को जला चूका कुछ यु बदली है तासीर उसने अपनी कई बेगानों में वो अपनों का मजाक बना चुका न जाने कौन ...

Read more »

7
ग़म- देवेन्द्र देव
ग़म- देवेन्द्र देव

वायदे वो किया करते है जो निभाते नहीं मंजिल कि और बढने को सब कहते है पर साथ आते नहीं कुछ बेगुनाह होते है मगर गुनाहगार कहलाते है असल में वो...

Read more »
 
 
Top