1
आखिर इन्सान हु में- देवेन्द्र देव
आखिर इन्सान हु में- देवेन्द्र देव

ऐ शहर तेरे बारे में सोचकर के हैरान हु में ! क्या करू इन दिनों बहुत परेशां हु में !! की अब तू कुछ बदल सा गया है ! आज इन ऊँची इमारतो के बीच...

Read more »

0
पागल सी लड़की- देवेन्द्र देव
पागल सी लड़की- देवेन्द्र देव

वो एक पागल सी लड़की ! कितने सवाल किये जाती है !! में सिर्फ जवाब देता हु ! और वो बवाल किये जाती है !! हर छोटी बात में राय लेती है मेरी ! ...

Read more »

1
क्या जवाब दू- देवेन्द्र देव
क्या जवाब दू- देवेन्द्र देव

तेरे इन सवालो का क्या जवाब दू ! अपने गुनाहों का क्या हिसाब दू !! तुम जो रूठे मुझसे तो मेरा नसीब रूठ गया ! लोग पूछते है अब में क्या जवाब ...

Read more »
 
 
Top