0

कभी- कभी खुद से लड़ता हूँ मै !
कभी जीत जाता हु तो कभी हार जाता हूँ मै !!
कई बजी खेली है खुद के साथ मैंने !
पर असल जिन्दगी में हार जाता हूँ मै!!
टुटा हूँ पर गिरा नहीं अपनी नजरो से !
कभी अकेले मै यु ही मुस्कुराता हूँ मै !!
कभी लिखू तो सरे कागज कम हो जाते है !
और कभी लिखने को सोचने में वक़्त जाया कर जाता हूँ मै !!

Post a Comment

 
Top